Civil Hindi Pedia

उत्तराखंड वन संरक्षक परीक्षा (UK ACF) - Syllabus

प्रारम्भिक परीक्षा पाठ्यक्रम (Syllabus of Preliminary Examination)

 

 

सामान्य अध्ययन एवं सामान्य बुद्धि परीक्षण

 

समय-2 घंटे                                                                                                                                     अधिकतम अंक-150

 

 

खण्ड-1 : सामान्य अध्ययन

 

अधिकतम अंक-150                                                                                                                                 कुल प्रश्न-100

 

  • सामान्य विज्ञान एवं कम्प्यूटर से संबंधित आधारभूत जानकारी : सामान्य विज्ञान एवं कम्प्यूटर संचालन की आधारभूत जानकारी संबन्धी प्रश्न, विज्ञान एवं कम्प्यूटर की सामान्य समझ एवं दैनिक जीवन में इसके अनुप्रयोग, प्रेक्षण एवं अनुभव पर आधारित होंगे, जो कि ऐसे शिक्षित व्यक्ति से अपेक्षित है जिसका विज्ञान या कम्प्यूटर की किसी भी शाखा में विशेष अध्ययन ना हो।

 

  • भारत का इतिहास तथा भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन : भारत का इतिहास तथा भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन के अर्न्तगत प्रश्न; प्राचीन , मध्यकालीन एवं आधुनिक भारतीय इतिहास के राजनैतिक, सामाजिक, आर्थिक एवं सांस्कृतिक पहलुओं की व्यापक जानकारी तथा भारत के स्वतंत्रता आन्दोलन, राष्ट्रवाद के विकास एवं स्वतंत्रता प्राप्ति पर आधारित होंगे। 

 

  • भारतीय राजव्यवस्था एवं अर्थव्यवस्था : भारतीय राजव्यवस्था एवं अर्थव्यवस्था के अर्न्तगत प्रश्न ; भारतीय राज्यव्यवस्था, संविधान, पंचायती राज और सामुदायिक विकास तथा भारतीय अर्थव्यवस्था एवं नियोजन की व्यापक विशेषताआें की समझ पर आधारित होंगे।

 

  • भारत का भूगोल एवं जननांकिकी : इसके अर्न्तगत प्रश्न भारत के भौगोलिक पारस्थितिकीय और सामाजिक-आर्थिक जननांकिकीय पक्षों की व्यापक समझ पर आधारित होंगे।

 

  • सम - सामयिक घटनायें : इसके अर्न्तगत प्रश्न सम-सामयिक उत्तराखण्ड राज्यीय तथा राष्ट्रीय एवं अर्न्तराष्ट्रीय महत्व की घटनाआें खेलकूद सहित पर आधारित होगें।

 

  • उत्तराखण्ड का इतिहास : उत्तराखण्ड की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि : प्राचीनकाल (आरम्भ से 1200 ई0 तक), मध्यकाल (1200 ई से 1815 ई तक), प्रभावशाली राजवंश एवं उनकी उपलब्धियां, गोरखा आन्दोलन एवं शासन, टिहरी रियासत एवं उनकी शासन व्यवस्था, स्वतंत्रता आन्दोलन में उत्तराखण्ड की भूमिका और इससे संबंधित प्रमुख विभूतियां, प्रमुख ऐतिहासिक स्थल एवं स्मारक उत्तराखण्ड राज्य निर्माण आन्दोलन, उत्तराखण्ड के लोगों का राष्ट्रीय एवं अर्न्तराष्ट्रीय क्षेत्रों में विशेष रूप से सशस्त्र बलों में योगदान ; विभिन्न समाज सुधार आन्दोलन तथा अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति ,बच्चों , दलितों एवं महिलाओं हेतु उत्तराखण्ड शासन के विभिन्न कल्याणकारी कार्यक्रम।

 

  • उत्तराखण्ड की संस्कृति : जातियों एवं जनजातियों , धर्म ,लोक, विश्वास, साहित्य, लोक साहित्य, परम्पराएं एवं रीति-रिवाज, वेशभूषा एवं आभूषण, मेले एवं त्यौहार , खान-पान कला, शिल्प, नृत्य, गायन एवं वाद्य यंत्र, प्रमुख पर्यटन स्थल एवं खेलकूद, प्रतियोगिताएं एवं पुरस्कार, उत्तराखण्ड के प्रसिद्ध लेखक और कवि तथा उनका हिन्दी साहित्य एवं लोक साहित्य में योगदान, उत्तराखण्ड शासन द्वारा संस्कृति के विकास में उठाये गये कदम।

 

  • उत्तराखण्ड का भूगोल एवं जननांकिकी : भौगोलिक स्थिति। उत्तराखण्ड हिमालय की प्रमुख विशेषतायें। उत्तराखण्ड में नदियां , पर्वत जलवायु एवं वन संसाधन एवं बागवानी। प्रमुख फसलें एवं फसल चक्र। सिंचाई के साधन। कृषि जोतें । प्राकृतिक एवं मानव जनित आपदाएं एवं आपदा प्रबंधन। जल संकट और जलागम प्रबंधन। दूरस्थ क्षेत्रों की समस्यांऐ। पर्यावरण एवं पर्यावरणीय आन्दोलन। जैव विविधता एवं इसका संरक्षण। उत्तराखण्ड की जनसंख्या वर्गीकरण, घनत्व, लिंगानुपात, साक्षरता एवं जनसंख्या पलायन।

 

  • उत्तराखण्ड का आर्थिक, राजनीतिक व प्रशासनिक परीवेश :

 

  • राजनीतिक व प्रशासनिक परीवेश :- उत्तराखण्ड में गठित सरकारें एवं उनकी नीतियाँ, राज्य की विभिन्न प्रकार की सेवाएं, प्रदेश की राजनीतिक व प्रशासनिक व्यवस्था, पंचायती राज्य , सामुदायिक विकास तथा सहकारिता।

 

  • प्रशासन व्यवस्था की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि - गोरखा एवं ब्रिटिश शासन काल में भूमि  संबंधी व्यवस्थाएँ- जिला भूमि प्रबंधन(थोकदारी, वन पंचायतें, सिविल एवं सोयम वन केसर हिन्द(बेनाप भूमि)नजूल, नयाबाद बन्दोबस्त)। आधुनिक काल- उत्तर प्रदेश एवं कुमाऊँ- उत्तराखण्ड जमींदारी , विनाश एवं भूमि अधिनियम लागू होने के बाद भूमि-सुधार, लैन्ड टैन्योर में परीवर्तन लगान वसूली व्यवस्था। राजस्व पुलिस व्यवस्था।

 

  • आर्थिक परीवेश :- सीमान्त जनपदों का प्राचीन काल में तिब्बत से व्यापार एव व्यापार की वर्तमान स्थिति, स्थानीय कृषि, पशुपालन, कृषि जोतों की अलाभकर स्थिति व चकबन्दी की आवश्यकता, बेगार तथा डडवार प्रथा।

 

  • आर्थिक व प्राकृतिक संसाधन : मानव संसाधन एवं प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था एवं प्रमुख शिक्षण संस्थान; वन,जल, जड़ी-बूटी, कृषि, पशुधन, जल विद्युत, खनिज, पर्यटन, उद्योग(लद्यु एवं ग्रामीण) संसाधनों के उपयोग की स्थिति।

 

  • उत्तराखण्ड में गरीबी व बेरोजगारी, उन्मूलन व आर्थिक विकास की दिशा में चलायी जा रही विभिन्न योजनाएं/आर्थिक क्रियायें एवं इनका राज्य जी0डी0पी0 में योगदान, उत्तराखण्ड में विकास की प्राथमिकताऐं व नियोजन की नवीन रणनीति तथा समस्याएँ। उत्तराखण्ड में विपणन की सुविधाएं तथा कृषि मण्डियां, उत्तराखण्ड के बजट की प्रमुख विशेषताएँ।

 

 

 

 

 

 

 

खण्ड-2 : सामान्य बुद्धि परीक्षण

 

अधिकतम अंक-50                                                                                                                                    कुल प्रश्न-50

 

सामान्य बुद्धिमता : इसके अर्न्तगत प्रश्न सामान्य बुद्धिमता से संबंधित जैसे शाब्दिक और गैर-शाब्दिक दोनों प्रकार के प्रश्न होंगे और इसमें सादृश्यों, समानताओं तथा अन्तरों , स्थानिक कल्पना, समस्या,समाधान, विश्लेषण, निर्णय लेना, दृश्य स्मृति, विभेदन , अवलोकन,संबंध अवधारणा, अंकगणतीय तर्क, शाब्दिक एवं चित्रात्मक वर्गीकरण, अंकगणतीय श्रृंखला संख्या आदि सम्मिलित होंगे। इसमें अभ्यर्थी की योग्यता का सामान्य विचार और संकेत और उनके संबंध,अंकगणतीय गणना तथा विश्लेषणात्मक कार्य आदि के प्रश्न भी शामिल होंगे ।